News ToDay

Rohini court shootout: दिल्‍ली पुलिस ने जेल में संदिग्‍ध मास्‍टरमाइंड इस गैंगस्‍टर से की पूछताछ

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने पिछले हफ्ते रोहिणी कोर्ट रूम में जि¤

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने पिछले हफ्ते रोहिणी कोर्ट रूम में जितेंद्र गोगी की हत्या के मामले में बुधवार को जेल में बंद गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया से पूछताछ की. बता दें कि बता दें 24 सितंबर को रोहिणी के अदालत कक्ष में गोलीबारी की घटना में तीन बदमाश मारे गए थे और एक विधि प्रक्षिशु घायल हो गई थीं.Also Read – Bharat Bandh: किसानों का ‘भारत बंद’ कल, दिल्ली पुलिस ने गश्त बढ़ाई; तैनात किए अतिरिक्त कर्मी

जेल अधिकारियों ने बताया कि मंडोली कारागार के जेल नंबर 15 में बंद टिल्लू ताजपुरिया पर शुक्रवार को हुई गोलीबारी के मुख्य साजिशकर्ताओं में से एक होने का संदेह है. हत्या की साजिश कथित तौर पर जेल के अंदर ही रची गई थी. जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अपराध शाखा की टीम ने बुधवार शाम को जेल में ताजपुरिया से पूछताछ की. Also Read – Delhi की रोहिणी कोर्ट में शूटआउट का वीडियो सामने आया, तीन क्रिमिनल की मौत, गैंगस्‍टर गोगी ने भी दम तोड़ा

सूत्रों ने बताया था कि मामले की शुरुआती जांच में खुलासा हुआ है कि ताजपुरिया इंटरनेट कॉलिंग के माध्यम से अपने सहयोगियों के संपर्क में था और उन्हें निर्देश दे रहा था कि योजना पर कैसे अमल करना है. Also Read – साड़ी पहनकर रेस्तरां पहुंची महिला को घुसने से रोका, महिला आयोग ने कहा- मामले में जांच करे पुलिस

बीते 24 सितंबर को रोहिणी के अदालत कक्ष में गोलीबारी की घटना में तीन बदमाश मारे गए थे और एक विधि प्रक्षिशु घायल हो गई थीं. रोहिणी अदालत में बीते शुक्रवार को बदमाश जितेंद्र गोगी की, वकील के भेष में आये दो हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दोनों हमलावर भी मारे गए थे. संदेह है कि दोनों टिल्लू गिरोह के सदस्य थे. इस वाकये में दो हमलावर राहुल त्यागी और जगदीप वकीलों के वेश में रोहिणी अदालत में घुसे और गैंगस्टर गोगी की गोली मारकर हत्या कर दी. हालांकि बाद में पुलिस की जवाबी कार्रवाई में वे भी मारे गए थे.

दिल्ली के रोहिणी की अदालत में गोलीबारी में तीन गैंगस्टर के मारे जाने की घटना के एक दिन बाद उन जेलों की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी, जहां गोगी और टिल्लू गिरोह के सदस्य बंद हैं. रोहिणी अदालत के भीतर जितेंद्र गोगी की हत्या करने वाले और बाद में पुलिस के जवाबी गोलीबारी में मारे गए राहुल और जगदीप ने गैंगस्टर की हत्या करने के बाद समर्पण करने की योजना बनाई थी. सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी. शुक्रवार को दोनों वकील के वेष में न्यायाधीश गगनदीप सिंह की अदालत में घुसे और उन्होंने गैंगस्टर गोगी पर गोली चलाई जिससे उसकी मौत हो गई.

सूत्रों के अनुसार, राहुल और जगदीप उर्फ जग्गा गोगी के प्रतिद्वंद्वी गिरोह के थे. पुलिस ने कहा कि अदालत कक्ष और परिसर में लोगों की जान खतरे में थी इसलिए पुलिस को जवाब में गोली चलानी पड़ी. शनिवार को देर रात हुए घटनाक्रम में दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने रोहिणी अदालत में हुई घटना के संबंध में उमंग यादव और विनय को गिरफ्तार किया था. सूत्रों ने बताया कि आरोपी शुक्रवार पूर्वाह्न 10 बजे एक कार से अदालत पहुंचे और उनकी योजना के अनुसार, चार लोग वकीलों के वेष में अदालत के भीतर जाकर गोगी की हत्या और उसके बाद न्यायाधीश के सामने समर्पण करने वाले थे.

सूत्रों ने कहा कि उनमें से एक ने काली जींस पहनी थी और इसलिए यादव तथा काली जींस वाला व्यक्ति अदालत के भीतर नहीं गए तथा राहुल और जगदीप गोगी की हत्या के मकसद से अंदर गए. सूत्रों ने बताया कि काली जींस वाले व्यक्ति को पकड़ने का प्रयास किया जा रहा है और अभी तक उसकी पहचान नहीं हो पाई है. यादव और विनय को उत्तर पश्चिमी दिल्ली के हैदरपुर इलाके में स्थित एक फ्लैट से गिरफ्तार किया गया था. जिसका मालिक यादव है. पुलिस के अनुसार, गोगी टिल्लू नामक एक अन्य गैंगस्टर का प्रतिद्वंद्वी है और उनके बीच कई सालों से जंग चल रही है. सूत्रों ने कहा कि टिल्लू, राठी और नवीन बाली, ये सभी विभिन्न आपराधिक गिरोहों के सरगना हैं और वे इस घटना के पीछे हैं. उन्होंने कहा कि ये सभी जेल में हैं.

.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker